Contact: +91-9711224068
International Journal of Applied Research
  • Multidisciplinary Journal
  • Printed Journal
  • Indexed Journal
  • Refereed Journal
  • Peer Reviewed Journal

ISSN Print: 2394-7500, ISSN Online: 2394-5869, CODEN: IJARPF

IMPACT FACTOR (RJIF): 8.4

International Journal of Applied Research

Vol. 6, Issue 8, Part E (2020)

मेघदूत में प्रेमतत्व का वैशिष्ट्य

Author(s)
प्रशांत कुमार
Abstract
‘मेघदूतम’ कालिदास-रचित एक खण्ड काव्य है। खण्डकाव्य प्रबन्धकाव्य के दो भेदों-महाकाव्य और खण्डकाव्य-में से एक है। महाकाव्य में जहां नायक या नायिका के जीवन का सर्वांग का चित्र प्रस्तुत किया जाता है, वहां खण्डकाव्य में उसके जीवन के एक अंग-विशेष का ही उपस्थापन होता है। ‘मेघदूतम्‘ कुल 121 मन्दाक्रान्ता वृत्तों में रचित खण्डकाव्य है, जिसका रस विप्रलम्भ शंृगार का वैशिष्ट्य है।
Pages: 400-403  |  201 Views  5 Downloads
How to cite this article:
प्रशांत कुमार. मेघदूत में प्रेमतत्व का वैशिष्ट्य. Int J Appl Res 2020;6(8):400-403.
Call for book chapter
International Journal of Applied Research